औकात नहीं है दुश्मनो की आँख से आँख मिलाने की, और बात करते हैं साले घर से उठाने की..!!

औकात नहीं है दुश्मनो की आँख से आँख मिलाने की,
और बात करते हैं साले घर से उठाने की..!!

[adsforwp id=”1235″]

औकात नहीं है दुश्मनो की आँख से आँख मिलाने की, और बात करते हैं साले घर से उठाने की..!!

औकात नहीं है दुश्मनो की आँख से आँख मिलाने की, और बात करते हैं साले घर से उठाने की..!!

Related Articles

Check Also
Close

Adblock Detected

Please Disable Your adBlocker Then You Visit This Article Thank You